Independence Day 15 August 2022 Speech In Hindi

Independence Day 15 August 2022 Speech In Hindi

Independence Day 15 August 2022 Speech In Hindi

यह भाषण दर्शकों को लुभाने के लिए बाध्य हैं, इसमें  राष्ट्रवाद और देशभक्ति की भावनाएँ हैं. जो पेशेवर है वो इस भाषण का उपयोग कार्यालयों या अन्य स्थानों पर कर सकते हैं, जिन्हें उन्हें स्वतंत्रता दिवस भाषण देने की आवश्यकता होती है. इन सरल भाषणों का उपयोग करते हुए, छात्र स्कूलों / कॉलेजों / संस्थानों में भारत के स्वतंत्रता दिवस समारोह में सक्रिय रूप से भाग ले सकते हैं.

जैसा कि हम सभी जानते है आज हम सभी यहाँ स्वतंत्रता दिवस के खास अवसर पर एकत्रित हुए है. मेरा नाम…….. है. मुझे इस बात की बहुत ख़ुशी है कि मुझे इस अवसर पर बोलने का मौका दिया दिया. आज का दिन हम सभी के लिए बहुत खास है. आज ही के दिन हमारे देश को आज़ादी मिली थी. ये प्रत्येक भारतवासी के लिये सबसे  महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि इसी दिन देश के स्वतंत्रता सेनानियों ने हमें बेहतरीन जीवन देने के लिए अपने प्राणों की कुर्बानी दे दी थी. ये ऐसा खास अवसर है जो हमे उनके द्वारा दिए गये बलिदान को याद दिलाता है. 

15 अगस्त भारत के लिए पुन: जन्म का दिन है. यही वह ऐतिहासिक तारीख थी, जिस दिन भारत के पहले प्रधानमंत्री “पंडित जवाहरलाल नेहरू” ने  लाल किले पर तिरंगा झंडा फहराया था. भारत में ब्रिटिश शासन को समाप्त करने के रूप में भारत के इतिहास में यह दिन सबसे महत्वपूर्ण है.

आज के दिन हम उन वीर पुरुषों को याद करते हैं जिन्होंने भारत माता की आजादी के लिए अपना प्राण निछावर कर दिए। इस आजादी को पाने के लिए न जाने कितने मामू ने अपना बेटा खो दिए और कितने बहन ने अपने भाई न जाने कितने माता बहन के मांग का सिंदूर मिट गया तब जाकर हमें यह आजादी प्राप्त हुई है।

हम यहाँ बैठकर यह कल्पना भी नहीं कर सकते हैं कि ब्रिटिश शासन से भारत को स्वतंत्रता दिलाना कितना कठिन थी. हमारे पास अपने पूर्वजों के बहुमूल्य परिश्रम और बलिदान के बदले देने के लिए कुछ भी नहीं है. हम केवल उन्हें और उनके कार्यों को याद कर सकते हैं और राष्ट्रीय आयोजनों का जश्न मनाते हुए दिल से सलाम कर सकते हैं. वे हमेशा हमारे दिलों में रहेंगे.

Independence Day Shayari 2022 new Click Here

 

‘ऐ मेरे वतन के लोगों ज़रा आंख में भर लो पानी’ जो शहीद हुए हैं उनकी ज़रा याद करो क़र्बानी’ लता जी का खाया हुआ ये गाना आज भी करोड़ों हिन्दुस्तानियों के शरीर में रौंगटे खड़े कर देता है। महात्मा गांधी, भगत सिंह, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, सरदार वल्लभभाई पटेल, डॉ.राजेंद्र प्रसाद, मौलाना अबुल कलाम आजाद, सुखदेव, गोपाल कृष्ण गोखले, लाला लाजपत राय, लोकमान्य बालगंगाधर तिलक, चंद्र शेखर आजाद ऐसे ही नाम हैं, जिनके बलिदान के कारण ही आज हम आजाद भारत में जी रहे हैं। 15 अगस्त के ही जिन 1947 को भारत ब्रिटिश शासन से आजाद हुए थे। हर साल देश के प्रधानमंत्री लाल किले पर तिरंगा झंडा फहराते हैं और राष्ट्रगान के बाद देश को संबोधित करते हैं। भाषण के बाद भारत के स्वतंत्रता सैनानियों को 21 तौपों की सलामी दी जाती है। 15 अगस्त 1947 को पहली बार देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने लाल किले पर तिरंगा झंडा फहराया था। उन्होंने वहां से भाषण भी दिया था, उस दिन से लगातार हर साल 15 अगस्त के दिन देश के पीएम लाल किले पर झंडा फहराते हैं और भाषण देते हैं। आपने भाषण के अंत में आज में देश के उन सभी वीर सपूतों को नमन करना चाहता हूं, जिन्होंने देश की रक्षा और स्वतंत्रता के लिए हंसते-हंसते अपने प्राणों का बलिदान दे दिया।

 

मैं आप सबका धन्यवाद करता हूँ, जो अपने मुझे इतने ध्यान से सुना

जय हिंद, जय भारत

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!